Sunday, September 5, 2021

ज्वाला गुट्टा का यह है कूल लुक, आप ने नहीं देखी होंगी ये तस्वीरें

dainikdunia.com-jwala-guttaलखनऊ।। अरविंद यादव ।। ज्वाला गुट्टा लखनऊ के केडी सिंह बाबू स्टेडियम में दो दिन पहले ही बैडमिंटन खेल रही थीं, यहां उनके खेल और कूल लुक की कई तस्वीरें खेल प्रेमियों को देखने को मिलीं। दैनिक दुनिया डॉट कॉम, इनमें से कुछ खास तस्वीरों को आपके सामने ला रहा है।

ज्वाला गुट्टा का जन्म सात सितंबर 1983 को वर्धा, महाराष्ट्र में हुआ था। उनके पिता एम. क्रांति तेलुगु और मां येलन चीन से हैं। उनकी मां येलन गुट्टा पहली बार 1977 में अपने दादा जी के साथ भारत आई थीं। ज्वाला गुट्टा की प्रारंभिक पढ़ाई हैदराबाद से हुई और यहीं से उन्होंने बैडमिंटन खेलना भी शुरू किया।

10 साल में ज्वाला ने तय किया कैरियर

10 साल की उम्र से ही ज्वाला गुट्टा ने एस.एम. आरिफ से ट्रेनिंग लेना शुरू कर दिया था। एस.एम. आरिफ भारत के जाने माने खेल प्रशिक्षक हैं, जिन्हें द्रोणाचार्य अवार्ड से सम्मानित किया गया है। पहली बार 13 साल की उम्र में उन्होंने मिनी नेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप जीती थी।

jwala-gutta-dainikduniaसाल 2000 में ज्वाला गुट्टा ने 17 साल की उम्र में जूनियर नेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप जीती। इसी साल उन्होंने श्रुति कुरियन के साथ डबल्स में जोड़ी बनाते हुए महिलाओं के डबल्स जूनियर नेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप और सीनियर नेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप में जीत हासिल की। श्रुति कुरियन के साथ उनकी जोड़ी काफी लंबे समय तक चली। 2002 से 2008 तक लगातार सात बार ज्वाला गुट्टा ने महिलाओं के नेशनल युगल प्रतियोगिता में जीत हासिल की।

महिला डबल्स के साथ-साथ ज्वाला गुट्टा ने मिश्रित डबल्स में भी सफलता हासिल की और भारत की डबल्स में सबसे बेहतरीन खिलाड़ी बनीं। 2010 कॉमनवेल्थ गेम्स में भी ज्वाला गुट्टा ने अपने पार्टनर अश्विनी पोनप्पा के साथ भारत के लिए स्वर्ण पदक जीता।

मैदान पर बाएं हाथ से तेज-तर्रार शॉट लगाने वाली ज्वाला निजी जिंदगी में भी काफी तेज और चर्चाओं में छाई रहती हैं। ज्वाला ने 2005 में बैडमिंटन खिलाड़ी चेतन आनंद से शादी की थी, 29 जून 2011 को उन्होंने अपने पति पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी चेतन आनंद से तलाक लिया है। चेतन आनंद भी एक बेहतरीन भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी हैं।

ये हैं ज्वाला गुट्टा की उपलब्धियां

  • 13 बार नेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप की विजेता।
    भारत की सबसे बेहतरीन डबल्स प्लेयर।
    साल 2011 में उन्हें “अर्जुन पुरस्कार” से सम्मानित किया गया।
    राष्ट्रमंडल खेल, 2014 (ग्लासगो) में ज्वाला ने स्वर्ण पदक जीता।

फोटोः फाइल।