Saturday, September 4, 2021

कलेक्टर बनने की है तमन्ना, फिर भी छात्राएं ले रही हैं ये ट्रेनिंग

DSC_0240लखनऊ (रीता कृष्ण मोहन)।। सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग को लेकर राजधानी की लड़कियों में क्रेज बढ़ता ही जा रहा है। 1090 वीमेन पॉवर लाइन में पिछले एक सप्ताह से सैकड़ों लड़कियों के ट्रेनिंग लेने के बाद, अब आईएएस-आईपीएस और पीसीएस की तैयारी कर रही प्रतियोगी छात्राओं का रुझान भी इस ओर हुआ है। यही वजह है कि अब प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रही छात्राएं भी इसकी ट्रेनिंग ले रही हैं। यह ट्रेनिंग अभी सेल्फ प्रोटेक्शन की ओर से यशभारती पुरस्कार से सम्मानित अभिषेक यादव द्वारा निःशुल्क दी जा रही है।

इसी क्रम में अलीगंज में समाजकल्याण विभाग की ओर से चलने वाले आदर्श पूर्व परीक्षा प्रशिक्षण केंद्र में 200 से अधिक छात्राओं को बदमाशों से कैसे निपटें और आक्रमण कैसे करें इसको लेकर दो दिवसीय ट्रेनिंग दी गई।

मुंहतोड़ जवाब देने के काबिल बन रही हैं लड़कियां

सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दे रहे अभिषेक यादव का कहना है कि मनचलों और बदमाशों से कैसे निपटा जाए इसका हुनर सीखकर ये लड़कियां खुद को इस काबिल बना रही हैं कि वह उन्हें मुंहतोड़ जवाब दे सकें। यह ट्रेनिंग समाज कल्याण विभाग की प्रशासनिक अधिकारी सुनिता यादव की देखरेख में दी जा रही थी। इसका समापन बुधवार को फाइनल मुकाबले के साथ हुआ।DSC_0246

क्या कहती हैं इंचार्ज

प्रशासनिक अधिकारी सुनीता यादव कहतीं हैं कि इस संस्थान की स्थापना वर्ष 1994 में तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने की थी। इसमें 150 से अधिक छात्राएं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही हैं, उत्तर प्रदेश में ये लड़कियों के लिये एकमात्र एक ऐसा प्रशिक्षण केन्द्र है, जहां प्रदेश भर से लड़कियां परिक्षा पास कर यहां तैयारी के लिये आती हैं, जिसका पूरा खर्च यूपी सरकार उठाती है। इन लड़कियों को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दी जा रही है, जिससे वह विषम परिस्थितियों में अपना आत्म विश्वास बनाये रखें और मुकाबला कर सकें।