Tuesday, September 7, 2021

स्वास्थ्य मंत्री ने अपनी ही सरकार पर उठाए सवाल

%e0%a4%9a%e0%a4%bf%e0%a4%95%e0%a4%bf%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%b8%e0%a4%be-%e0%a4%b5%e0%a4%bf%e0%a4%ad%e0%a4%be%e0%a4%97-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%b0%e0%a4%bf%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%a474 में केवल एक जिले में पूरा हुआ कम, कैसे दूर होगी लापरवाही

अखिलेश कृष्ण मोहन

लखनऊ ।। यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री रविदास मेहरोत्रा ने अपनी ही सरकार के ऊपर अंगुली उठाई है। उन्होंने महिला एवं बाल चिकित्सालयों में डाक्टरों एवं पैरामेडिकल स्टॉफ के समय से उपस्थित ना होने तथा इलाज में उदासीनता एवं लापरवाही को गंभीरता से लिया है। उन्होंने कहा है कि प्रदेश के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तथा महिला अस्पताल में बायोमैट्रिक मशीन एवं सीसीटीवी कैमरा लगाने के आदेश के पालन में देरी हो रही है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है।

मेहरोत्रा ने तीन महीने पहले अधिकारियों को आदेश दिए थे, कि जनता को बेहतर स्वास्थ्य सेवायें उपलब्ध कराने तथा महिलाओं व बच्चों की मृत्यु दर रोकने के लिए डाक्टरों एवं पैरामेडिकल स्टॉफ पूरे समय में अस्तपालों में उपस्थिति रहना चाहिए। इसको लेकर मेहरोत्रा ने बताया कि अस्पताल में निरीक्षण के दौरान देखा गया है कि डाक्टर एवं पैरामेडिकल स्टॉफ समय से नहीं आता है, तथा अपनी पूरी डयूटी नहीं करता है, जिससे जनता को निःशुल्क दवा-इलाज एवं जांच आदि की सुविधा नहीं मिल पाती है।

मेहरोत्रा ने बताया कि यूपी के 74 जिलों में बायोमीट्रिक और सीसीटीवी नहीं लगे हैं। केवल कौशांबी में यह काम हुआ है। प्रदेश के सभी मुख्य चिकित्साधिकारियों की बैठक के दौरान यह हकीकत उभर कर सामने आई है।