Tuesday, August 31, 2021

इंडोनेशिया: विमान में सवार सभी 189 यात्रियों की मौत, बचाव दल ने की पुष्टि !

New Delhi. इंडोनेशिया में सोमवार सुबह हुए विमान हादसे के बाद राहत और बचाव कार्य में जुटे दल ने पुष्टि की है कि विमान में सवार सभी यात्रियों की मौत हो गई है।

इंडोनेशिया

बता दें कि इंडोनेशिया में सोमवार सुबह बड़ा विमान हादसा हुआ है। यहां इंडोनेशियाई एयरलाइंस लॉयन एयर का विमान सोमवार सुबह से लापता होने के बाद जावा सागर में क्रैश हो गया था। विमान का मलबा मिल गया है। मौके पर राहत और बचाव अभियान शुरू किया गया है।

विमान में 189 यात्री सवार थे। वहीं हादसे के बाद इंडोनेशियाई एनर्जी फर्म पर्टेमिना ने अधिकारिक बयान जारी करके हादसे की पुष्टि की है। साथ ही उसने अपने बयान में कहा है कि जावा के समुद्री तट पर दुर्घटनाग्रस्‍त विमान का मलबा मिला है। इसमें विमान की सीटें भी शामिल हैं।

प्रवक्ता मोहम्मद सयायुगी ने एक प्रेस-कांफ्रेस में किसी भी विमान यात्री के बचने की संभावना से इंकार किया। उनका कहना है कि हम आशा कर सकते हैं, भगवान से प्रार्थना कर सकते हैं, लेकिन इसकी संभावना नहीं दिख रहीं है। वहीं लॉयन एयर ग्रुप के सीईओ एडवर्ड सीरैत ने अपने अधिकारिक बयान में घटना के कारणों के बारे में कुछ भी कहने से इंकार किया है।

सोमवार सुबह 6.33 बजे दुर्घटना हुई

जानकारी के मुताबिक, जर्काता से पंगकल पिनांग जा रहे इस विमान का संपर्क एयर ट्रैफिक कंट्रोलर से टूट गया था। सूत्रों का कहना है कि इंडोनेशियाई समय के अनुसार सोमवार सुबह 6.33 बजे यह दुर्घटना हुई। इस बात की पुष्टि रॉयटर्स ने इंडोनेशिया के स्थानीय राहत और बचाव अधिकारियों से बातचीत के आधार पर की है। बताया जा रहा है कि इस विमान में करीब 188 यात्री सवार थे।

13 मिनट बाद टूटा था संपर्क

बता दें कि विमान का संपर्क उड़ान भरने के 13 मिनट बाद ही एयर ट्रैफिक कंट्रोलर से टूट गया था। वहीं समाचार एजेंसी रॉयटर्स से बातचीत में लॉयन एयर ग्रुप के सीईओ एडवर्ड सीरैत ने अधिकारिक बयान में घटना के वास्तविक कारणों के बारे में कुछ भी कहने से इंकार किया है।

प्लैन क्रैश में किसी के भी बचने की उम्मीद खत्म हो चुकी है। घटना की आधिकारिक पुष्टि के बाद इंडोनेशिया में विमान यात्रियों के परिजन रोते बिखलते अपने परिवार के लोगों को याद कर रहे हैं।

विमान में तकनीकी खामी थी

एयरलाइन कंपनी के एक बड़े अधिकारी ने बड़ा खुलासा किया है। कंपनी के अधिकार ने हादसे के बाद कहा है कि जो विमान दुर्घटनाग्रस्‍त हुआ है, उसमें पिछली उड़ान के दौरान तकनीकी खामी थी। हांलाकि कंपनी की प्रक्रिया के तहत उसकी मरम्‍मत कर ली गई थी।