Monday, September 6, 2021

जानिए क्यों करेंगे मुलायम यूपी सरकार के सीएम से बात

लखनऊ (DIGITAL MEDIA ASSOCIATION)।। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने कहा है कि देश की समृद्धि एवं सुरक्षा में शिक्षक एवं सेना की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। शिक्षक समाज का निर्माण करते हैं और नई पीढ़ी को आगे बढ़ने के लिए मार्ग बताते हैं, जबकि सेना सीमा पर कठिन परिस्थितियों से जूझते हुए भी देश की रक्षा करती है। जहां नागरिक शिक्षित होगें, वहीं देश तरक्की करेगा। उन्होंने कहा कि शिक्षक केवल किताबी ज्ञान ही न दें अपितु छात्रों की जिज्ञासाएं भी शांत करें। शिक्षक अपने अंदर हीनभावना लाने से भी बचें।

मुलायम सिंह यादव ने शनिवार को पार्टी मुख्यालय लखनऊ में राजकीय शिक्षक संघ की प्रांतीय कार्यकारिणी, मण्डलीय एवं जिलों के पदाधिकारियों तथा वरिष्ठ शिक्षक नेताओं की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। बैठक को संरक्षक सुश्री मीनाक्षी कौल, प्रांतीय अध्यक्ष अरविन्द पाण्डेय, महामंत्री केदारनाथ तिवारी और जीएस शुक्ल ने भी सम्बोधित किया और राजकीय शिक्षकों की समस्याएं रखी। उन्होंने नेताजी को नौ सूत्री मांग पत्र भी दिया। मुलायम सिंह यादव ने शिक्षकों की मांगों का संज्ञान लेते हुए सरकार से बातचीत कराने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि वे स्वयं शिक्षक रहे हैं और लगातार 16 साल तक पढ़ाते रहे थे। बाद में विधायक और मंत्री रहते हुए भी वे कक्षाएं लेने जाते थे।

मुलायम सिंह यादव ने कहा कि सरकारी हो या गैर सरकारी शिक्षक, शिक्षक हैं और उसका सम्मान किया जाना चाहिए। उन्होंने माना कि शिक्षण संस्थाओं में शिक्षकों की बड़ी कमी है, वे इधर सरकार का ध्यान जरूर आकर्षित करेगें। समाजवादी सरकार की योजनाओं से समाज के सभी वर्गो के लाभान्वित होने का दावा करते हुए कहा कि पांच साल के लिये किए गए अधिकांश चुनावी वादे तीन साल में पूरे हो गए हैं। जन सामान्य को जितनी सुविधाएं उत्तर प्रदेश में मिल रही है, अन्यत्र कहीं नहीं उपलब्ध है। यहां मुफ्त पढ़ाई, दवाई, सिंचाई और गंभीर रोगों के मुफ्त इलाज की सुविधा है। जनता महसूस कर रही है कि यहां अच्छा काम हो रहा है। मुलायम सिंह यादव ने महिला शिक्षिकाओं की सार्वजनिक जीवन में ज्यादा भागीदारी पर बल देते हुए कहा कि महिलाएं आज भी दबावों की जिंदगी जी रही हैं। उन्हें बराबरी का दर्जा देना होगा। अभी भी महिलाओं में साक्षरता की कमी है। महिला शिक्षिकाओं की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण हो जाती है। गांवों से हो रहे पलायन को रोकने के लिए गांवों की दशा सुधारने पर बल दिया। उन्होंने कहा चौधरी चरण सिंह और डा. लोहिया ने कृषि अर्थव्यवस्था में सुधार की बात की थी। चौधरी साहब ने किसानों में जागृति पैदा की। मुलायम ने भारत पाक बांग्लादेश का महासंघ बनाने पर जोर देते हुए कहा कि देश को मजबूत बनाना है तो पाकिस्तान से दोस्ती रखना होगा। शासक वर्ग की इसमें रूचि नहीं है पर दोनों ओर की जनता दुश्मनी से तंग है।

फोटोः समाजवादी पार्टी के मुख्यालय में महिलाओं को संबोधित करते हुए मुलायम सिंह यादव।