Wednesday, September 8, 2021

रातभर की दरिंदगी ने ली आदिवासी महिला की जान, कौन करेगा कैंडल मार्च    

kkkगाजीपुर/लखनऊ।।  65 वर्षीय एक आदिवासी महिला के साथ रात भर गैंगरेप करने के बाद हत्या कर दी गई। मौका-ए-वारदात पर शराब की चार खाली बोतलें, गिलास और माचिस की डिब्बी पाई गई है। इस मामले में चार आरोपियों के खिलाफ हत्या और रेप का नामजद मुकदमा दर्ज कर पुलिस उनकी तलाश कर रही है। 

मामला करंडा थाना क्षेत्र स्थित एक चट्टी के पास का है। सोमवार की सुबह करीब नौ बजे कुछ ग्रामीण गुजर रहे थे। तभी झोपड़ी के अंदर से महिला के कराहने की आवाज सुनाई पड़ी। लोगों ने देखा तो अंदर खून से लथपथ एक वृद्धा अर्द्धनग्न हालत में तड़प रही थी। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। 

सूचना मिलने के बाद एएसपी सुनील कुमार सिंह, सीओ सिटी कमल किशोर और करंडा थानाध्यक्ष पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस को घटनास्थल से देसी शराब की तीन और अंग्रेजी शराब की एक खाली बोतल मिली है। पास में प्लास्टिक की पांच गिलास, माचिस की डिब्बी और बर्तन बिखरे पड़े थे। 

पुलिस ने आनन-फानन में वृद्धा को जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मौके पर फोरेंसिक टीम को भी बुलाया गया, इसके बाद टीम के सदस्यों ने सबूत एकत्र किए।

एएसपी सुनील कुमार सिंह का कहना था कि प्रथम दृष्टया जांच में वृद्धा के साथ गैंगरेप किए जाने की बात उजागर हो रही है, लेकिन जिस तरह की दरिंदगी दिख रही है उस बारे में पोस्टमार्टम रिपोर्ट या फिर आरोपियों के पकड़े जाने पर ही कुछ कहा जा सकेगा।

वृद्ध महिला के एक करीबी ने चार आरोपियों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस आरोपियों तक पहुंचने के लिए उनके संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

अधिक खून बहने से गई जान

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो सोमवार की सुबह करीब नौ बजे तक वृद्धा झोपड़ी के अंदर कराह रही थी। रात में हुई दरिंदगी के बाद से इतना अधिक रक्तस्राव हुआ कि उसकी जान चली गई। यदि समय पर इलाज मिला होता तो शायद उसकी जान बच सकती थी।

स्थानीय लोगों के मुताबिक महिला के साथ हैवानियत और हत्या पर कैंडल मार्च करने वाला कोई नहीं है। समाज उसके लिए आवाज नहीं उठाएगा, इस लिए क्या कार्रवाई होगी इसका अंदेशा पहले से ही है।

फोटोः प्रतीकात्मक।