Wednesday, September 8, 2021

कानून की छात्रा को काटकर हाईवे पर फेंका, कॉल डिटेल खंगाल रही पुलिस

vlcsnap-2015-02-03-15h32m19s110लखनऊ।। डीडीसी न्यूज एजेंसी ।। राजधानी लखनऊ में कानून की छात्रा काटकर हाईवे पर फेंक दिया गया। छात्रा अंबेडकर यूनिवर्सिटी की छात्रा थी। उसका कटा हुआ हाथ शहीद पथ पर बरामद हुआ है, जबकि धड़ को बोरी में भरकर पीजीआई थाना क्षेत्र में फेंक दिया गया था। छात्रा अमीनाबाद में रहती थी और एक फरवरी से लापता थी। पुलिस ने मामले में संदिग्ध चार लोगों को गिरफ्तार किया है।

राजधानी में हुई इस सनसनीखेज वारदात ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। छात्रा की रेप के बाद हत्या की आशंका जताई जा रही है। यह भी सामने आया है कि वह कई लड़कों से घंटों फोन पर बात करती थी। उसके परिजनों ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई थी, लेकिन पुलिस की लापरवाही की वजह से उसकी तलाश नहीं हो सकी।

जानकारी के मुताबिक, सोमवार की सुबह उसका शव मिलने के बाद परिजनों ने शिनाख्त की है। चार युवक टिंकू सोनकर, आदित्य गुप्ता, एहसान और अभिषेक को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। युवती के रेप के बाद हत्या की आशंका जताई जा रही है।

क्या कहते हैं छात्रा के पिता

मृतका के पिता ने आरोप लगाया है कि पुलिस की लापरवाही से कार्रवाई में देरी हुई, यदि समय रहते उसका मोबाइल ट्रेस कर लिया जाता तो आज उनकी बेटी की जान बच जाती। युवती बीते रविवार दोपहर को अमीनाबाद के गणेशगंज स्थित घर से पिता की जैकेट ड्राई वॉश कराने के लिए घर से निकली थी। काफी देर होने के बाद जब वह वापस नहीं आई तो मां ने फोन किया, लेकिन मोबाइल स्विच ऑफ था।

शाम छह बजे एक लड़के ने उनकी बेटी का फोन उठाया और जल्द ही बात करवाने को बोला। इसके बाद फोन फिर से स्विच ऑफ हो गया। देर शाम घरवालों ने थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई।

पिता के मुताबिक, सोमवार सुबह दस बजे उनकी बेटी के मोबाइल से एक युवक की कॉल आई। उसने कहा कि उनकी बेटी पीजीआई में एडमिट है। इसके बाद आनन-फानन में घरवाले पीजीआई पहुंचे, लेकिन वहां भी कुछ पता नहीं चला। बाद में थाने से सूचना मिली कि एक लावारिस युवती का शव बरामद हुआ है। शिनाख्त करने पर वह उनकी बेटी का शव निकला।

फोटोः छात्रा की मोबाइल पर तस्वीर।