Monday, September 6, 2021

मायावती का बर्थडे बना जनकल्याणकारी दिवस, नहीं काटा केक

maya-birthdayलखनऊ।। मायावती का आज 59वां बर्थडे है। इस मौके पर हर बार केक काटकर शानों शौकत के साथ जन्मदिन मनाने वाली मायावती ने केक नहीं काटने का फैसला किया है। वह पार्टी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के साथ अपना जन्मदिन मना रही हैं। उनके जन्मदिन को जनकल्याणकारी दिवस के रूप में मनाया जा रहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक, इस मौके पर पार्टी कार्यालय में वह 59 किलो का केक काटने वाली थीं, लेकिन उन्होंने इरादा बदल लिया। अब बसपा सुप्रीमो सादगी से अपना बर्थडे मना रही हैं। इस अवसर पर पार्टी के वरिष्ठ नेता भी मौजूद हैं। उन्हें जन्मदिन की बधाई और शुभकामनाएं देने के लिए प्रदेश कार्यालय में अन्य जिलों से आए पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं का तांता लगा हुआ है।

पार्टी कार्यालय पर मायावती ने सपा और केंद्र की भाजपा सरकार पर मिलीभगत का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि राजनीतिक स्वार्थों के लिए इनके बीच जिस तरह से मधुर संबंध विकसित हुए हैं उससे नहीं लगता कि राज्यपाल व केंद्र की सरकार प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाकर लोगों को इस मुश्किल से बाहर लाने का काम करेंगे।

प्रदेश की चिंताजनक हालत के लिए सपा सरकार के साथ केंद्र की पिछली कांग्रेस सरकार की तरह मौजूदा भाजपा सरकार भी जिम्मेदार है। वह मोदी सरकार पर भी जमकर बरसीं। कहा कि इस साढ़े सात महीने में किसी ओर से अच्छे दिन आते नजर नहीं आए। इस मौके पर राष्ट्रीय महासचिव सतीशचंद्र मिश्र और पूर्व सांसद बृजेश पाठक भी मौजूद थे।

मायावती ने दिल्ली विधानसभा चुनाव का अभियान शुरू करने का ऐलान किया। कहा कि पार्टी वहां विधानसभा की सभी 70 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने भाजपा पर लोकसभा चुनाव की तरह दिल्ली में भी प्रलोभन भरे सपने दिखाकर लोगों को गुमराह कर सत्ता पाने की कोशिश करने और आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल पर आरक्षण विरोधी होने का आरोप लगाया। मायावती ने दिल्ली के मतदाताओं को आगाह किया कि वे दिल्ली में भाजपा की सरकार बनने की गलती न होने दें।

फोटोः मायावती ने अपने 59वें जन्मदिन पर ब्लू बुक को लांच किया।