Tuesday, August 31, 2021

मायावती जिन्हें गद्दार कह रही हैं वह कभी नहीं बिकेः दद्दू

अखिलेश कृष्ण मोहन
अखिलेश कृष्ण मोहन

hqdefaultलखनऊ ।। बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक सदस्यों में एक दद्दू प्रसाद का कहना है कि मायावती जिसे गद्दार और स्वार्थी कहा है वह कभी बिके नहीं। मायावती दलित आंदोलन की खलनायिका हो गई हैं। वह उस मिशन को सामंतवादी ताकतों के हाथों नीलाम कर रही हैं, जो बहुत पहले से ही सौदा करने की फिराक में था। ये सामंतवादी ताकतें कांशीराम के समय में भी अंदर घुसने की कोशिश कर रही थीं, लेकिन तब उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था, लेकिन अब कांशीराम नहीं हैं इस लिए मायावती बेलगाम हो गई हैं।

दैनिक दुनिया डॉट कॉम से बहुजन मुक्ति पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव दद्दू प्रसाद बताते हैं कि उन्होंने कांशीराम के साथ काफी समय तक काम किया है। वह मायावती की सरकार में मंत्री भी रहे, लेकिन पार्टी की कार्यप्रणाली को लेकर वह कहते हैं कि मायावती चार बार मुख्यमंत्री बनीं, लेकिन जो असली सरकार थी वह केवल मायावती को पहली दो बार सीएम बनने वाली सरकार थी। उस समय कांशीराम जिंदा थे। तब मायावती पैसा नहीं ले पाती थीं, लेकिन कांशीराम की मौत के बाद मायावती ने सामंतवादी ताकतों के लिए दरवाजे खोल दिए।

दद्दू प्रसाद को भी मायावती ने दो साल पहले पार्टी से निकाल दिया था। इसके बाद वह बहुजन मुक्ति पार्टी में लोगों को संगठित करने की कोशिश में जुटे हैं। स्वामी प्रसाद मौर्य को लेकर वह कहते हैं कि उन्हें फैसला सोच समझ कर करना चाहिए। यह उनकी राजनीति का ही नहीं, बल्कि दलित आंदोलन का भी संक्रमण काल है। इस दौरान यदि किसी ने गलत फैसला ले लिया तो यह आंदोलन खत्म हो जाएगा।

PHOTO: FILE