Thursday, September 9, 2021

गुंडा टैक्स वसूली को लेकर मंत्री के गुर्गों पर केस दर्ज

Tata_Communications_Towerरायबरेली में सपा के मंत्री मनोज पांडे के गुर्गों ने टाटा टावर के कर्मचारियों को गुंडा टैक्स न देने पर की पिटाई, सीएम के संज्ञान में आने पर केस दर्ज

लखनऊ (एजेंसी)।। जहां एक ओर टाटा कंपनी के रतन टाटा से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव यूपी में निवेश की चर्चा कर रहे हैं और कारोबारियों को प्रदेश में विकास के लिए आमंत्रित कर रहे हैं, वहीं रायबरेली में यूपी सरकार के मंत्री मनोज पांडे के गुर्गे टाटा के टावर संचालकों से गुंडा टैक्स वसूलने में लगे हैं। हद तो तब हो गई जब, बुधवार को दो दिन से वसूली की मांग पूरी नहीं होने पर रायबरेली शहर के गांधी नगर में टावर के कर्मचारियों पर हमला बोल दिया गया। यहां टावर की रखवाली कर रहे कर्मचारियों और अन्य टेक्निकल स्टाफ समेत दर्जनों लोगों को पीटा गया। मामला मुख्यमंत्री के संज्ञान में आने पर कमल किशोर मिश्रा समेत कई लोगों पर कोतवाली में केस दर्ज किया गया है। सभी मौके से फरार बताए जा रहे हैं। कमल किशोर मिश्रा खुद को यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री मनोज पांडे का भाई बताता है।

उधर मिली जानकारी के मुताबिक, मंत्री मनोज पांडे के गुर्गों के मारपीट की वजह से चार घंटे तक रायबरेली और उसके आसपास के इलाकों में चार घंटे तक मोबाइल नेटवर्क बंद रहे। इसकी वजह से लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। स्थानीय लोगों का कहना है कि एक मंत्री के गुर्गे सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से नजदीकी बताते हैं। वह टाटा कंपनी के टावर संचालकों से वसूली को लेकर मारपीट कर रहे हैं। यदि प्रशासन सही समय पर कार्रवाई नहीं करता है तो मंत्री के गुर्गों का मनोबल बढ़ेगा, वह यहां पर और तांडव मचाएंगे। यूपी में मंत्री मनोज पांडे के गुर्गों का तांडव तब देखने को मिल रहा है। जब टाटा कंपनी यूपी में निवेश को लेकर मन बना रही है। स्थानीय लोगों का यह भी कहना है कि मंत्री की कारगुजारी की वजह से ही यहां पर सपा की बदनामी हो रही है। यह मंत्री यहां पर टावरों से रंगदारी वसूली को लेकर अपने गर्गों से छूट दे रहे हैं। मंत्री के संरक्षण और हाथ के बिना यह मारपीट और वसूली हो ही नहीं सकती है।

क्या कहते हैं पुलिस कप्तान

जिले के कप्तान श्रीकांत यादव का कहना है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए कमल किशोर मिश्रा समेत कई लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। सभी फरार हैं। ये लोग टावर नहीं चलने दे रहे थे। पुलिस जल्द ही फरार लोगों को गिरफ्तार कर लेगी।

टावर के कर्मचारी परेशान

टावर की रखवाली कर रहे कर्मचारियों के मुताबिक, मामला गुंडा टैक्स वसूली का है। वह पैसा मांग रहे थे, जब पैसा नहीं पाए तो सभी लोगों पर हमला बोल दिया। कमल किशोर मिश्रा खुद को मंत्री का भाई बताता है। वह ही लोगों को मारने-पीटने के लिए कह रहा था।