Tuesday, August 31, 2021

पद्मावती के विरोध में फाँसी लगाने लगे लोग, किले से लटका मिला शव

JAIPUR. संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को लेकर पूरे देश में बवाल मचा हुआ है. लड़ाई कोर्ट तक पहुंच चुकी है. इसके बाद भी विवाद थमने का नाम नही ले रहा है। इसी बीच एक बहुत ही चौकांने वाले खबर सामने आई है। -DAINIKDUNIA.COM

फिल्म पद्मावती को लेकर विरोध-प्रदर्शन अब खूनी रूप लेता नजर आ रहा है। राजस्थान के जयपुर के पास स्थित नाहरगढ़ किले की प्राचीर पर एक शख्स की लाश लटकी हुई मिली है। शव के पास से स्यूसाइड नोट भी बरामद हुआ है।

 

पद्मावती के विरोध

 

हम सिर्फ पुतले नहीं लटकाते

इसमें लिखा है कि यह शख्स स्क्रीनिंग के विरोध में पद्मावती का पुतला जलाए जाने से नाराज था। नोट को मुताबिक उसने कहा कि वह फिल्म पद्मावती को लेकर आत्महत्या कर रहा है। उसके शरीर पर लिखा था-पद्मावती का विरोध। हालांकि घटनास्थल पर एक पत्थर पर लिखा है-हम सिर्फ पुतले नहीं लटकाते।

पद्मावती के विरोध

ALSO READ. पद्मावती के विरोधियों को दीपिका पादुकोण ने यूं  दिया जवाब

किले पर लटकती मिली लाश

इससे शक मर्डर की ओर भी जाता है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है और यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि यह आत्महत्या है या मर्डर। किले पर लटकती मिली लाश किसकी है, ये अभी पता नहीं चल पाया है। पुलिस ने लाश को किले से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस मामले में ज्यादा जानकारी का इंतजार है।

 

पद्मावती के विरोध

 

ALSO READ. जब सरेआम लड़की का रेप होता है तब कहां जाता गुस्सा, पद्मावती विरोधी..

महाराज सवाई जय सिंह द्वितीय ने बनवाया

वहीं करणी सेना ने इस घटना की निंदा की और कहा कि उनका इससे कोई लेना-देना नहीं है। जिस नाहरगढ़ के किले में युवक का शव लटका मिला उसे 1734 में महाराज सवाई जय सिंह द्वितीय ने बनवाया था।

 

ALSO READ. रेप से बेहाल हुई माधुरी दीक्षित, बोली-अब मुझे हाथ भी मत लगाना

फिल्म एक दिसंबर को रिलीज होनी थी

राजपूत समाज का आरोप है कि निर्देशक संजय लीला भंसाली ने पद्मावती के इतिहास के साथ छेड़छाड़ की है। उसने कहानी को तोड़-मरोड़ कर पेश किया है। फिल्म को अभी सेंसर बोर्ड ने भी पास नहीं किया है। वही रिलीज से पहले ही फिल्म को कई राज्यों में बैन कर दिया गया है। फिल्म एक दिसंबर को रिलीज होनी थी लेकिन अभी इस पर संशय बना हुआ है।

 

-FILE PHOTO