Thursday, September 2, 2021

कुंवारी लड़कियों पर पंचायत ने लगा दी ये अजीबो-गरीब पाबंदी

Bhopal. कुंवारी लड़कियों को लेकर मध्य प्रदेश के आखिरी गांव डेहरा में निवास करने वाले सहरिया आदिवासी समाज ने एक फरमान जारी किया है। यह निर्णय लिया गया कि समाज की महिलाएं यदि कहीं मजदूरी करने भी जाती हैं तो महिलाएं कम से कम पांच महिलाओं के समूह में ही मजदूरी करने जाएंगी, ताकि आदिवासी महिलाओं का कोई शोषण न करने पाए।

 

कुंवारी लड़कियों

 

कुंवारी लड़कियों मोबाइल नहीं रख सकेंगी

इस समाज की महिलाएं अगर किसी दूसरे समाज के पुरुष के साथ बातचीत करेंगी तो उसे समाज से निकाल दिया जाएगा। इतना ही नहीं, समाज की कोई भी महिला अपने पास मोबाइल फोन नहीं रखेंगी। खासकर कुंवारी लड़कियां तो बिलकुल भी मोबाइल नहीं रख सकेंगी।

 

read also .इस पार्टी के एमएलए ने लगवाया खुलेआम चुम्बन मेला, अब हो सकते हैं बर्खास्त

 

सभी लोगों ने सहमति जताई है

जिससे कुंवारी लड़कियों मोबाइल पर अश्लील बातें न कर सकें। क्योंकि इस तरह की शिकायतें आती रही हैं। ये फरमान गुना जिले में सहरिया आदिवासी समाज के बुजुर्गों व महिलाओं ने सुनाया है। इस पर समाज के सभी लोगों ने सहमति जताई है।

 

कुंवारी लड़कियों के शोषण की शिकायतें

आम तौर पर महिलाओं दबंग और रसूखदार लोगों के जहां पर कई बार अकेली भी मजदूरी करने चली जाती थी, जिससे बाद में उनके शोषण की शिकायतें सामने आती थी। अगर कोई महिला अकेले काम पर जाती है तो उसे दंडित किया जाएगा या उसे समाज से बाहर कर दिया जाएगा।

फोटो-प्रतीकात्मक