Sunday, September 5, 2021

पीएम तोड़ेंगे सबसे बड़ा रिकॉर्ड, लेकिन ये नहीं करेंगे अगवानी

Modiलखनऊ (अखिलेश कृष्ण मोहन) ।। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक नया रिकॉर्ड बनाने जा रहे हैं। वह नोएडा के सेक्टर-62 में गुरूवार को नोएडा-मेरठ एक्सप्रेस की नींव रखेंगे, लेकिन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव उनकी अगवानी करने नहीं जाएंगे। इसके पहले देश का कोई प्रधानमंत्री भी नोएडा में शिलान्यास कार्यक्रम में नहीं गया है। यह भी कहा जा रह है कि मुख्यमंत्री अखिलेश नोएडा जाने से डर रहे हैं, और ये डर सियासी अंधविश्वास का है। राजनीतिक पार्टियों का मानना है कि आज तक जो भी मुख्यमंत्री नोएडा गए, उसकी कुर्सी छिन गई और वो सत्ता से बेदखल हो गए हैं। अखिलेश यादव भी इसी डर से नोएडा जाने से बच रहे हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी की आगवानी के लिए सरकार ने पंचायती राज मंत्री कैलाश यादव को कार्यक्रम में मुख्यमंत्री का प्रतिनिधि बन कर जाने के लिए कहा है। यहीं नहीं, अखिलेश यादव इससे पहले भी नोएडा जाने से परहेज कर चुके हैं। उन्होंने नोएडा की योजनाओं, परियोजनाओं का शिलान्यास, उद्धाटन अपने लखनऊ स्थित आवास पांच कालिदास से किया है। यहां तक कि वो दादरी कांड के बाद भी नोएडा नहीं गए थे। अखिलेश यादव से पहले जो भी मुख्यमंत्री नोएडा गए, वो दोवारा मुख्यमंत्री नहीं बने। वीरबहादुर सिंह, नारायण दत्त तिवारी, राम प्रकाश गुप्ता और कल्याण सिंह भी इस लिस्ट में शामिल हैं। साल 2011 में मायावती भी नोएडा गई थीं, लेकिन 2012 में वो भी सत्ता से बेदखल हो गईं।

मुलायम के लिए भी नोएडा रहा है अनलकी

मुलायम सिंह यादव वर्ष 1995 में  भी नोएडा गए थे, लेकिन वो दोबारा मुख्यमंत्री नहीं बन सके। नोएडा आने से सिर्फ मुख्यमंत्री ही नहीं, बल्कि प्रधानमंत्री भी परहेज कर चुके हैं। नोएडा बनने के बाद कोई भी प्रधानमंत्री वहां की धरती पर कदम नहीं रखा है। पीएम नरेंद्र मोदी ऐसे पहले पीएम हैं, जो नोएडा का दौरा करेंगे।

फाइल फोटोः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।