Wednesday, September 1, 2021

दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का पीएम मोदी ने किया अनावरण !

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का अनावरण कर दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज गुजरात के नर्मदा जिले में केवडि़या स्थित सरदार सरोवर बांध से लगभग तीन किलोमीटर की दूरी पर साधु द्वीप पर बनी सरदार वल्लभभाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का अनावरण करने सुबह 10 बजे पहुंचे थे।

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी

 

इसके लिए प्रधानमंत्री मंगलवार रात अहमदाबाद पहुंचे। इसके साथ ही यह चीन स्थित प्रिरंगफील्ड बुद्धा की 153 मीटर ऊंची मूर्ति को आधिकारिक तौर पर पीछे छोड़ते हुए दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति बन जाएगी।

लगभग तीन हजार करोड रूपये की खर्च से करीब साढ़े तीन साल में बन कर तैयार हुई इस मूर्ति की ऊंचाई न्यूयार्क स्थित स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी से करीब दो गुनी है। इसका काम एल एंड टी कंपनी को अक्टूबर 2014 में सौंपा गया था। काम की शुरूआत अप्रैल 2015 में हुई थी। इसमें 70 हजार टन सीमेंट और लगभग 24000 टन स्टील, तथा 1700 टन तांबा और इतना ही कांसा लगा है।

अमित शाह समेत कई नेता मौजूद

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी, डिप्टी सीएम नितिन पटेल, मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल अनावरण के इस कार्यक्रम में उपस्थित हैं।

मुंबई, अमेरिका से आए रिश्तेदार

सरदार पटेल के रिश्तेदार ने कहा कि अमेरिका, मुंबई, अहमदाबाद आदि से हमारे परिवार के 37 सदस्य यहां आए हुए हैं।

राजनाथ सिंह ने ‘रन फॉर यूनिटी’ को हरी झंडी दिखाई

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को देश के पूर्व उपप्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती के मौके पर दिल्ली में ‘रन फॉर यूनिटी’ को हरी झंडी दिखाई। पूर्व भारतीय हॉकी खिलाड़ी और अजुर्न पुरस्कार से सम्मानित जफर इकबाल, पांच बार वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियन मैरी कॉम, जिमनास्टिक और ओलम्पिक मेडेलिस्ट दीपा करमाकर भी मौजूद रहे।

केवडिया पहुंचे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के केवडिया पहुंच गए हैं। सरदार वल्लभभाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का अनावरण करेंगे।

राष्ट्रपति ने सरदार पटेल की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज सुबह साढ़े छह बजे संसद मार्ग स्थित पटेल चौक पर सरदार पटेल की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें कृतज्ञ राष्ट्र की ओर से भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह तथा केन्द्रीय शहरी कार्य एवं आवास मंत्री हरदीप सिंह पुरी भी मौजूद थे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सरदार पटेल की 143वीं जयंती पर उन्हें नमन करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की।

नर्मदा का जल और मिट्टी एक कलश में भरकर करेंगे समर्पित

प्रधानमंत्री और अन्य विशिष्ट अतिथि नर्मदा का जल और मिट्टी एक कलश में भरकर राष्ट्र को समर्पित करेंगे। प्रधानमंत्री एक बटन दबाकर प्रतिमा का वचुर्अल अनावरण करेंगे। पीएम मोदी प्रतिमा के समक्ष विशेष प्रार्थना भी करेंगे। इसके बाद वह लोगों को संबोधित करेंगे।

वायु सेना के तीन विमान भरेंगे उड़ान

पीएम मोदी द्वारा प्रतिमा के अनावरण के बाद वायु सेना के तीन विमान वहां उड़ान भरेंगे और भगवा, सफेद तथा हरे रंग से आसमान में तिरंगा उकेरेंगे। तीन जगुआर लड़ाकू विमान काफी नीचे से उड़ान भरते हुए जाएंगे। इस अवसर पर गुजरात पुलिस, सशस्त्र और अर्द्धसैनिक बलों के बैंड सांस्कृतिक और संगीत कार्यक्रमों की प्रस्तुति देंगे।

मध्यप्रदेश की राज्यपाल और गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने देश के प्रथम उप प्रधानमंत्री और गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर उनका पुण्य स्मरण करते हुए उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए। उन्होंने कहा कि लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल का देश के स्वतंत्रता संग्राम और देश के एकीकरण में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। देश में आजादी के बाद देशी रियासतों को एकता के सूत्र में पिरोने की क्षमता सिर्फ सरदार पटेल में ही थी।