Tuesday, September 7, 2021

यूपी विधानसभा चुनाव में प्रशांत किशोर की इंट्री, 10 को आएंगे लखनऊ

prashant-kishor-work-for-raसोनिया गांधी और राहुल गांधी के चुनावी दौरे को प्रशांत करेंगे मैनेज, युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर सवालों और मुद्दों से हमला करेगी कांग्रेस की युवा टीम

लखनऊ (अखिलेश कृष्ण मोहन) ।। यूपी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत को लेकर प्रशांत किशोर रोड मैप तैयार करेंगे। वह 10 मार्च को लखनऊ आ रहे हैं और ठीले पड़ गए कांग्रेस नेताओं में जोश भरेंगे साथ ही जीत का मंत्र भी देंगे।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जीत के चाणक्य माने जा रहे प्रशांत किशोर का अगला ठिकाना यूपी विधानसभा चुनाव है। वह यूपी में वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव की प्लानिंग करेंगे, लेकिन मोदी के लिए नहीं बल्कि सोनिया गांधी के लिए। इस बार प्रशांत किशोर राहुल गांधी की युवा टीम को धार देने के लिए 10 मार्च को लखनऊ आ रहे हैं।

अमेरिकी मॉडल पर काम करते हैं किशोर

दरअसल, प्रशांत किशोर की टीम अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव प्रचार की तरह जनसंवाद को लेकर नए-नए प्रयोग करती है। नमो के लिए ‘चाय पर चर्चा’ की तर्ज पर बिहार में चुनाव के करीब आने पर नीतीश के लिए ‘ब्रेकफास्ट विद सीएम’ कार्यक्रम शुरू किया। आप गौर करें तो बिहार में महागठबंधन का जो प्रचार अभियान था वह पूरे समय चुस्त नजर आया। रंग किसी भी पार्टी के लिए ब्रैंडिग स्ट्रेटजी का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है और इन रंगों के पीछे दिमाग था प्रशांत किशोर का। इन चटक रंगों ने नीतीश कुमार की जनता दल (यूनाइटेड) और लालू प्रसाद यादव की राष्ट्रीय जनता दल की ओर से पहले इस्तेमाल किए जा रहे बोरिंग हरे और सफेद रंग की जगह ली। 

नीतीश कुमार पर मोदी के डीएनए वाले बयान के बाद लोगों के डीएनए सैंपल जमा करके मोदी को भेजने का बहुचर्चित आइडिया प्रशांत किशोर का ही था। जनता तक नीतीश की बात पहुंचाने के लिए उन्होंने ‘चौपाल पर चर्चा’, ‘पर्चे पर चर्चा’, ‘हर घर दस्तक’, नीतीश कुमार पर कॉमिक्स ‘मुन्ना से नीतीश’ और मोदी के डीएनए वाले बयान के खिलाफ ‘शब्द वापसी आंदोलन’ जैसे कार्यक्रम चलाए। बिहार के पढ़े-लिखे और इंटरनेट सेवी लोगों के लिए भी ‘आस्क नीतीश’ जैसे हाईटेक कार्यक्रम भी चलाए जा रहे हैं।

जानिए प्रशांत किशोर ने किस किस नेता के लिए किया काम

 

 

फोटोः फाइल।