Thursday, September 9, 2021

21 जुलाई से शुरू होगा युवा रालोद का यूपी में आंदोलन

63393_1031254160218207_8431467531291872735_n (1)लखनऊ (डीडीसी न्यूज एजेंसी)।। राष्ट्रीय लोकदल आगामी विधानसभा चुनाव के लिए युवाओं की फौज तैयार करने में जुटा है। यही वजह है कि तेज तर्रार नेता व पार्टी के युवा राष्ट्रीय लोकदल के नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र सिंह पटेल को इसकी जिम्मेदारी दी गई है। उन्होंने गुरुवार को पार्टी मुख्यालय पर बताया कि यूपी की सरकार हो या मोदी की केंद्र सरकार युवाओं और बेरोजगारों को सभी ने नजर अंदाज किया है। इसके खिलाफ 21 जुलाई को लखनऊ में धरना प्रदर्शन कर आंदोलन की शुरूआत की जाएगी।

रविंद्र सिंह पटेल ने आगे बताया कि राष्ट्रीय लोकदल विधानसभा की तैयारियों में जुट गया है। सपा ने चुनाव में वादा किया था कि रोजगार के लिए प्रदेश से युवाओं का पलायन रोका जाएगा, लेकिन इस ओर ध्यान नहीं दिया गया। युवा रालोद मांग करता है कि राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर पर युवा आयोग का गठन किया जाय। समान शिक्षा नीति बनायी जाय और शिक्षा के नाम पर प्रदेश ही नहीं देश भर में हो रहे शिक्षा के व्यापार को बन्द किया जाय।

प्रदेश में कानून व्यवस्था के नाम पर खिलवाड़ किया जा रहा है प्रशासनिक अधिकारियों पर सरकार की अनुशासनात्मक पकड़ बिलकुल कमजोर हो गयी है। इसका कारण यह है कि शासन से जुडे हुए लोगों द्वारा नेता-नौकरशाह गठजोड़ करके जनता के धन का बंदरबाट किया जा रहा है। इसलिए प्रशासन निरंकुश हो गया है। जरूरतमंदों के कार्य होने के अलावा प्रदेश में सारे कार्य हो रहे हैं। युवा रालोद का मानना है कि छोटे राज्यों की परिकल्पना विकासवादी होती है, इससे सत्ता शक्ति का विकेन्द्रीकरण होता है। सरकार से जनता का सीधा संवाद स्थापित होना सरल होने के कारण जन समस्याओं का निपटारा आसान हो जाता है। यही एक आदर्श लोकतंत्र की परिकल्पना होती है। यूपी राज्य का पुनर्गठन करके चार भाग किए जायें।

फोटोः मीडिया को संबोधित करते हुए युवा राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष रविंद सिंह पटेल।