Monday, September 6, 2021

रोहित शर्मा कभी नहीं कर पाते ये कारनामा, अगर ये खिलाड़ी मदद नहीं करता !

डेस्क। आज 13 नवंबर है। आज ही के दिन चार साल पहले (13 नवंबर 2014) टीम इंडिया के बल्लेबाज़ रोहित शर्मा ने श्रीलंका के खिलाफ वनडे क्रिकेट का सबसे बड़ा निजी स्कोर 264 रन बनाए थे।

रोहित शर्मा

कोलकाता के ईडन गार्डंस पर रोहित शर्मा ने श्रीलंकाई गेंदबाज़ों की बखियां उधड़ते हुए ये ऐतिहासिक पारी खेली थी, लेकिन क्या आपको मालूम है ये इतिहास नहीं रचा जाता अगर एक भारतीय खिलाड़ी रोहित शर्मा की मदद नहीं करता। चलिए आपको बताते हैं कौन है वो भारतीय खिलाड़ी और उसने कैसे की रोहित की मदद?

इस खिलाड़ी की वजह से रोहित ने रचा इतिहास

रोहित शर्मा ने इस मैच में 173 गेंदों का सामना करते हुए 33 चौके और 9 छक्के जड़ते हुए ये 264 रन बनाए थे। रोहित ऐसी धमाकेदार पारी न खेल पाते अगर रॉबिन उथप्पा उनकी मदद न करते। रॉबिन उथप्पा जब इस मैच में बल्लेबाज़ी के लिए मैदान पर आए थे तब टीम इंडिया का स्कोर 40.2 ओवर में चार विकेट पर 276 रन था। दूसरे छोर पर रोहित शर्मा बल्लेबाज़ी कर रहे थे और उन्होंने 150 से ज्यादा रन भी बना लिए थे।

तब उथप्पा टीम इंडिया में जगह बनाने के लिए संघर्ष कर रहे थे और उनके पास अच्छा मौका था बड़ी पारी खेलकर टीम में अपनी जगह पक्की करने का। श्रीलंका की कमज़ोर गेंदबाज़ी के सामने उथप्पा भी मौके का फायदा उठाते हुए अर्धशतक जड़ सकते थे।

उथप्पा बड़े शॉट्स खेलते हुए अर्धशतक जमा सकते थे, लेकिन उन्होंने अपने बारे में न सोचते हुए टीम हित के लिए खेला। उन्होंने अर्धशतक जमाने के बारे में बिलकुल नहीं सोचा बल्कि उन्होंने हर मौके पर हिटमैन को स्ट्राइक देने की ठानी। उथप्पा की इस मदद से रोहित शर्मा ने अगली 58 गेंदों के खेल में 100 से अधिक रन बनाते हुए इतिहास रच दिया। वहीं दूसरी तरफ उथप्पा 16 गेंदों में 16 रन बनाकर नाबाद रहे।

रोहित ने एक मैच में बनाए दो-दो विश्व रिकॉर्ड

रोहित की इस धमाकेदार पारी की बदौलत ही भारत ने ये मैच 153 रन से जीता था। इस मैच में टीम इंडिया के हिटमैन ने दो-दो विश्व रिकॉर्ड अपने नाम किए थे। पहला ये कि ये किस भी बल्लेबाज़ द्वारा वनडे क्रिकेट का सबसे बड़ा निजी स्कोर था।

दूसरे इस दोहरे शतक के साथ ही रोहित शर्मा अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट में दो दोहरे शतक लगाने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बन गए थे। हालांकि अब रोहित शर्मा के नाम वनडे क्रिकेट में तीन-तीन दोहरे शतक हैं। खास बात ये है कि रोहित के ये दोनों विश्व रिकॉर्ड आज भी कायम हैं।