Tuesday, September 7, 2021

शिवपाल जी काबिल हैं, लेकिन चुनाव नहीं जिता सकते

article-2717064-2049CF8700000578-412_634x468लखनऊ (ब्यूरो) ।। लखनऊ के ही एक अखबार के संपादक नाम न छापने की शर्त पर कहते हैं कि शिवपाल जी में काबिलियत बहुत है। वह बहुत अच्छे नेता हैं, लेकिन वह विधानसभा का चुनाव नहीं जिता सकते। मथुरा मुद्दे पर भी शिवपाल यादव की छवि खराब हुई है। वह सिंचाई विभाग की प्रेस कांफ्रेंस में भी मुख्यमंत्री की विदेश यात्रा पर सवाल उठ चुके हैं। समाजवादी पार्टी में केवल एक ही चेहरा है, जो सपा को चुनाव जितवा सकता है और पार्टी को सत्ता में वापसी करवा सकता है, वह हैं खुद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।

क्या कहते हैं लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार राजेंद्र गौतम

वरिष्ठ पत्रकार राजेंद्र गौतम का कहना है कि कौमी एकता दल को लेकर जो फैसला हुआ है। इसका संकेत साफ है कि आगामी विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की ही चलेगी। नेता जी ने अपने पुत्र के हर बैरियर को खत्म किया है। उन्होंने बेटे की अलोचना भी की है, तो सकारात्मक अंदाज में की है। उन्होंने बैरियर रहे अमर सिंह को भी शामिल कर अखिलेश के लिए बेहतर काम किया है।

  • गौरतलब है कि कौमी एकता दल का उस समय समाजवादी पार्टी में विलय करवाया गया, जब मुख्यमंत्री इसके पक्ष में नहीं थे। इसको लेकर बताया जाता है कि शिवपाल यादव ने पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव को विश्वास में लेकर ऐसा करवाया था। इसके बाद तो तूफान खड़ा हो गया। बलराम यादव का पार्टी से बर्खास्त किया जाना भी इसी का हिस्सा था और अब अखिलेश यादव ने उन्हें फिर से मंत्री पद देने का फैसला किया है साथ ही कौमी एकता दल के सपा में विलय को रद कर दिया गया है।

PHOTO: FILE