Sunday, August 29, 2021

हार के बाद पहली बार शिवराज सिंह ने दिया ये बड़ा बयान !

नई दिल्ली. शिवराज सिंह चौहान ने मध्यप्रदेश सीएम पद से इस्तीफा राज्यपाल को सोंप दिया हैं। इस दौरान शिवराज सिंह ने कहा कि हम सरकार बनाने का दावा पेश नहीं करेंगे और हम संख्या बल के आगे सिर झुकाते हैं।

शिवराज सिंह

मध्य प्रदेश की राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने के बाद शिवराज सिंह चौहान ने कहा, “अब मैं मुक्त हूं, आय एम फ्री… मैं अपना इस्तीफा माननीय राज्यपाल को सौंप दिया है… हार की ज़िम्मेदारी सिर्फ मेरी है… मैंने कमलनाथ जी को बधाई दी है…”

शिवराज सिंह चौहान ने शायराना अंदाज़ में कहा, “न हार में, न जीत में, किंचित नहीं भयभीत मैं… कर्तव्य पथ पर जो मिले, यह भी सही, वह भी सही…”

शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार सुबह मीडिया से बातचीत में कहा कि हमारी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है इसलिए हम सरकार बनाने का दावा पेश करने नहीं जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं अपना इस्तीफा गवर्नर को देने जा रहा हूं। और शिवराज सिंह यह कहते ही गवर्नर को इस्तीफा देने राजभवन गए और उन्हें अपना इस्तीफा सौंप दिया है। शिवराज सिंह के इस्तीफे के बाद से यह साफ हो चुका है कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है। आज कांग्रेस नेता राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे।

एक ओर जहां जनमत आते ही अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने अपनी हार स्वीकरा करते हुए कल ही इस्तीफा सौंप दिया था लेकिन शिवराज सिंह मंगलवार रात सरकार बनाने की जुगत में लगे रहे। और जब उन्हें कहीं से भी कोई आस दिखाई नहीं दी तब उन्होंने बुधवार सुबह अपनी हार स्वीकारी और राज्यपाल को इस्तीफा देने सौंपे। शिवराज सिंह ने कांग्रेस पार्टी और कमलनाथ को शुभकामनाएं दीं और कहा कि हार की जिम्मेदारी सिर्फ मेरी है।

बता दें कि 11 दिसंबर को आए परिणामों में शिवराज सरकार को जनता ने सिरे से खारिज कर दिया है। भाजपा को 109 सीट आई है जबकि कांग्रेस बहुमत 116 से महज दो कदम दूर 114 सीटों पर ही ठिठक गई है। शिवराज पिछले 13 सालों से मुख्यमंत्री पद पर थे।