Thursday, September 2, 2021

महिला सैनिक ने कहा- मैं बीमार थी मेजर मुझसे मिलने आए और उतरवा दिया मेरा अंडरवियर

New Delhi : नॉर्थ कोरिया अपने तानाशाही राज में एक से बढ़कर एक जुल्मों से भरा हुआ है। हाल ही में एक टीवी शो में पूर्व महिला सैनिक ने अपने साथ हुए यौन शोषण और खौफनाक मंजर को बयां किया है। 45 साल के मेजर जनरल ने 18 साल की महिला सैनिक से रेप किया।

महिला सैनिक

 

महिला सैनिक रही महिला ने बताया

टीवी पर नॉर्थ कोरिया की महिला सैनिक रही महिला ने बताया कि उसे बेहद कम खाना दिया जाता था। जब उसने शिकायत की तो एक 45 साल के मेजर जनरल ने उसे अपने सारे कपड़े उतारने को कहा।

18 साल की महिला को मेजर ने कहा कि वह उसका चेकअप करना चाहता है, ताकि अगर वह बीमार है तो हॉस्पिटल भेज सके। इसके बाद मेजर ने महिला को अंडरवीयर भी उतारने को कहा। फिर मेजर ने लड़की के साथ रेप किया।

लड़की के चीख निकालने पर मेजर ने उसका मुंह बंद कर दिया। फिर उसे एक कान पर इतना जोर से मारा कि दूसरे कान से खून बहने लगा। उसके दांत भी टूट गए!

 

महिला सैनिक

 

businessinsider।in की रिपोर्ट के मुताबिक, पीटने के बाद मेजर ने कहा कि वह सारे कपड़े पहन ले और किसी को न बताए।

महिला ने कहा कि तब उसके पास शिकायत करने के लिए कोई ऑप्शन नहीं था। लेकिन अगर आज उसे मौका मिले तो वह मेजर को दोगुना दर्द पहुंचाना चाहती है।

 

यह भी पढ़े. प्रियंका चौपड़ा ने अपने प्राइवेट पार्टस दिखाकर सबकों चौकांया, देखिये तस्वीरें

 

आपको बता दें कि नॉर्थ कोरिया में सभी पुरुष को 11 साल और महिलाओं को 6 साल मिलिट्री में सर्विस देनी होती है। एक महिला ने कहा कि नॉर्थ कोरिया में महिला को बताया जाता है कि वे पुरुष के इतना स्मार्ट, इम्पॉर्टेंट और मजबूत नहीं हैं।

 

महिला सैनिक

 

एक अन्य पूर्व महिला सैनिक ने कहा कि कई बार सीनियर मिलिट्री ऑफिसर राशन और यूनिफॉर्म देने के बदले में सेक्स की डिमांड करते थे। हाई रैंक ऑफिसर का महिला सैनिकों के साथ सोना आम बात थी। यह शो साउथ कोरिया के Digitalsoju TV पर प्रसारित किया गया था।

इजरायल की सेना में महिलाओं की हालत भी ठीक नहीं। हाल ही में आई एक रिपोर्ट के अनुसार 10 में से 6 महिला सैनिक यौन शोषण का शिकार हो रही हैं। द येरूशलम के अनुसार इजरायल की महिला सैनिकों ने पिछले दिनों अपने एक ब्रिगेडियर के खिलाफ शिकायत की।

शिकायत में महिला सैनिकों ने कहा कि हमें ड्यूटी पर बंदूक चलाने से ज्यादा सेक्स करना पड़ता है। ड्यूटी पर किसी ना किसी बहाने से हमारे सीनियर हमसे यौन संबंध बनाते हैं।

महिला सैनिकों ने ब्रिगेडियर पर आरोप लगाते हुए कहा कि ब्रिगेडियर बिना पूछे हमारे बंकर में घुस आते हैं और फिर हमारा रेप करते हैं। रेप करने के बाद हमें प्रमोशन का लालच भी दिया जाता है।

बता दें कि इजरायली न्यूज वेबसाइट के अनुसार पिछले साल ही 24 पुरुष सैनिक महिला सैनिकों से रेप के आरोप में गिरफ्तार किए गए हैं। जिन्हें मिलट्री पुलिस की कस्टडी में रखा गया है।

 

फेसबुक पर अपलोड कर दिया

वहीं, इजरायल के ही महिला सैनिकों के एक ग्रुप ने सिर्फ अंडरवियर पहने और हाथों में कुछ हथियार लेकर फोटो खिंचावाई और उसे फेसबुक पर अपलोड कर दिया।

घटना के सामने आने के बाद सेना ने आरोपी सैनिकों के खिलाफ अनुशासनात्‍मक कार्रवाई की है। इससे पहले भी इजरायली सेना के कई युवा सैनिकों को फेसबुक जैसी सोशल नेटवर्किंग साइट्स में आपत्तिजनक सामग्री अपलोड करने पर सेना से फटकार मिल चुकी है।

ताजा मामला दक्षिण इजरायल के मिलिट्रि बेस का है, जहां आरोपी महिलाओं की कुछ समय पहले ही नियुक्ति हुई थी। फेसबुक पर अपनी आपत्तिजनक तस्‍वीरें अपलोड करने के आरोप में इन महिला सैनिकों के खिलाफ सेना ने कार्रवाई की है।

फेसबुक पर अपलोड एक फोटो में महिला सैनिक अपने अंडरवियर दिखाने के लिए वर्दी उतारते हुए दिख रही हैं। वहीं, एक दूसरी तस्‍वीर में 5 महिलाएं बैरक में दिखाई दे रही हैं, जहां उन्‍होंने सिर्फ हेलमेट पहना है और उनके हाथ में कुछ हथियार हैं। फोटो में सैनिकों के चेहरे ब्‍लर यानी कि धुंधले कर दिए गए हैं।

सेना की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, ‘अधिकारियों ने आरोपी सैनिकों को अनुशासित कर दिया है।’ हालांकि बयान में सैनिकों की पहचान गुप्‍त रखी गई है और उन्‍हें दी गई सजा के बारे में भी नहीं बताया गया है।

सेना के अधिकारियों का कहना है कि सैनिक फिर से इस तरह का काम ना करें इसके लिए मिलिट्री बेस में शैक्षणिक व्‍याख्‍यान आयोजित किए गए।

हाल के वर्षों में कई बार इजरायली सेना ने सोशल मीडिया साइट्स में अनुचित सामग्री पोस्‍ट करने पर अपने सैनिकों को दंडित किया है। साल 2010 में यूट्यूब में एक वीडियो पोस्‍ट किया गया था जिसमें एक इजरायली सैनिक फिलिस्‍तीनी महिला के चारों ओर नाच रहा था। उस महिला की आंख में पट्टी बंधी थी।

महिला सैनिकों ने तस्वीर खींचकर मीडिया पर अपलोड

इससे पहले इजरायली महिला सैनिकों ने फिलिस्‍तीनी कैदियों के साथ तस्‍वीर खींचकर उसे सोशल मीडिया साइट्स पर अपलोड कर दिया था।

इन घटनाओं के बाद इजरायली सेना ने सैनिकों के बेस में रहते हुए सोशल मीडिया साइट्स के इस्‍तेमाल पर पाबंदी लगा दी ताकि इस तरह की पोस्‍ट से होने वाली परेशानी से बचा जा सके। हालांकि यह साफ नहीं है कि अभी भी यह प्रतिबंध कायम है या नहीं।