Tuesday, August 31, 2021

विधानसभा में घूम रहे असली और नकली लल्लू को आजम खां ने पहचाना!

UP_Assembly_747902fलखनऊ (अखिलेश कृष्ण मोहन) ।। यूपी विधानसभा में आजकल जोरदार चुटकुलों और गंभीर मुद्दों का दौर चल रहा है। बुधवार को भी कुछ ऐसा ही हुआ। सदन में कानून-व्यवस्था को लेकर चर्चा हो रही थी। इस बीच सरकार की ओर से मंत्री शिव प्रताप यादव ने कहा कि बसपा के समय में तो कांग्रेस नेता रीता बहुगुणा का घर जलाने वाले पुलिसवालों का प्रमोशन कर दिया गया था। हालांकि वह पुलिस अधिकारी यूपी के डीजीपी रहे एके जैन हैं या बाकी जो प्रमोट किए गए उनका नाम नहीं लिया गया, लेकिन इसको लेकर सदन में गजब का ड्रामा दिखा।

नेता प्रतिपक्ष विधानसभा स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि मुख्यमंत्री जी आप देख रहे हैं। ऐसे लल्लू मंत्री रहेंगे तो आपका बंटाधार हो जाएगा, सरकार को ले डूबेंगे ये मंत्री। सरकार के मंत्री को लल्लू कहे जाने पर मंत्री शादाब फातिमा समेत कई मंत्रियों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। किसी मंत्री को लल्लू कैसे कहा जा सकता है… यह असंसदीय भाषा है… इसे सदन की कार्रवाई में नहीं लिया जा सकता। हालांकि ऐसा हुआ भी। स्पीकर महोदय ने इसे कार्यवाही से निकलवा दिया।

समाजवादी पार्टी के विधायकों और सरकार के मंत्रियों के लल्लू शब्द को असंसदीय बताने को लेकर कांग्रेस के विधायक दल के नेता प्रदीप माथुर ने जवाब दिया कि लल्लू तो हमारे विधायक का नाम है। यह असंसदीय कैसे हो सकता है। तब तक लल्लू विधायक बेल में आ गए, कुछ देर तक कांग्रेस के विधायक इस बात को लेकर हंगामा करते रहे। इसके बाद बीजेपी के विधायकों ने प्रदीप माथुर को प्रमोद तिवारी न बनने की नसीहत दी और कहा कि जिंदगी में प्रमोद तिवारी नहीं बन पाओगे। इसके बाद संसदीय कार्यमंत्री आजम खां उठे और इसका जवाब बड़े ही शायराना अंदाज में दिया। उन्होंने बसपा की ओर इशारा करते हुए कहा कि हमारे पास एक ही लल्लू है, उधर (बसपा की ओर) सब लल्लू हैं।

फोटोः फाइल।