Friday, September 3, 2021

51 हजार से अधिक सिपाहियों की होगी भर्ती, आयु सीमा को लेकर लिया गया ये फैसला

SSP

लखनऊ. विजयदष्मी के अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगीआदित्यनाथ द्वारा पुलिस विभाग में बड़े पैमाने पर नयी भर्तियां किये जाने की घोषणा कर दी गई है।

यह निर्णय प्रदेश की कानून-व्यवस्था एवंअपराध नियंत्रण की स्थिति कोऔरअधिक बेहतर बनाये जाने के उद्देष्य से लिया गया है। मुख्यमंत्री ने पुलिसकर्मियों की कमी को शीघ्र दूर करने के लिये भर्ती की प्रक्रिया को और अधिक तेजी लाने एवं सम्पूर्ण पुलिस भर्ती प्रक्रिया को पूर्णतया पारदर्शी तरीके से करने केनिर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि इससे पुलिस बल की संख्या में जहां बढ़ोत्तरी होगी वहीं, इससे पुलिसकर्मियों पर कार्यका तनाव भी कम होगा।

मुख्यमंत्री ने पुलिस के सिपाहियों की भर्ती में महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़ाने के उद्देष्य से आरक्षी सिविल पुलिस की नयी भर्ती में 20 प्रतिशत पद महिलाओं हेतु सुरक्षित करने के भी निर्देश दिये हैं।

मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में राज्य सरकार द्वारा इस दिश मेंऔर तेजी लायी गयी है। कई महत्वपूर्ण कदम उठाये गये हैं। प्रदेश सरकार द्वारा उठाये गये कदमों की विस्तृत जानकारी प्रमुख सचिव, गृह अरविन्द कुमार, पुलिस महानिदेशक, ओपी सिंह तथा पुलिस महानिदेशक उ0प्र0पुलिस भर्ती बोर्ड, जीपी शर्मा ने आज मीडिया सेन्टर एनेक्सी में प्रेस प्रतिनिधियों को प्रदान की।

उल्लेखनीय है कि वर्तमान समय में पुलिस विभाग में लगभग 42 प्रतिशत रिक्तियां पुलिस आरक्षी स्तर, 50 प्रतिशत रिक्तियां जेल वार्डन स्तर तथा 38 प्रतिशत रिक्तियां फायरमैन स्तर पर चल रही हैं।

प्रमुख सचिवगृह, अरविन्द कुमार ने उक्त जानकारी देते हुये आज यहां बताया कि पुलिसकर्मियों के मनोबल को बढ़ाने एवं उनकी कार्य संस्कृति को और बेहतर करने के लिये वर्ष 2018 में विशेष प्रयास करके 37575 पुलिस कर्मियों को बड़ी संख्या में पदोन्नितियां प्रदान की गयी हैं। उन्होंने बताया कि पदोन्नति प्राप्त पुलिसकर्मियों में से 2192निरीक्षक, 7500 उपनिरीक्षक तथा 24651 हेडकांस्टेबल हैं। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2017 में पदोन्नति पाने वाले पुलिसकर्मियों की कुल संख्या 9892 थी।

अरविन्द कुमार ने बताया कि पुलिस विभाग में सिविल पुलिस एवं पीएसी में कुल स्वीकृत 2 लाख 29 हजार से अधिक पदों में से 97 हजार से अधिक पद वर्तमान समय में रिक्त चल रहे हैं। पुलिस बल में सिपाहियों की कमी को शीघ्र पूरा करने के मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में 51,216 पुलिस आरक्षियों की शीघ्र ही नई भर्ती का कार्यक्रम निर्धारित किया गया है।