Saturday, September 4, 2021

यूपी सरकार ने फिर बनाया दो महीने के लिए डीजीपी

newswala-i-arun-kumar-gupta-assumes-charge-as-new-dgp-in-lucknow-ho-1लखनऊ।। यूपी सरकार ने डीजीपी के पद को मजाक बना दिया है। मुख्यमंत्री ने फिर दो महीने के लिए एके जैन को डीजीपी बना दिया। अरविंद कुमार जैन के पहले एके गुप्ता को एक महीने के लिए डीजीपी बनाया गया था।

मार्च में एके जैन का रिटायरमेंट है। दरअसल जब अरुण कुमार गुप्ता को एक माह का डीजीपी बनाया गया तो मार्च में रिटायरमेंट के लिए तैयार बैठे ए.के. जैन की भी उम्मीदें जाग गईं। ए.के. जैन को सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के करीबी अफसरों में गिना जाता था, लेकिन बीएसपी कार्यकाल के दौरान महत्वपूर्ण तैनातियों में रहे जैन पर मायावती का करीबी होने की मुहर लग गई। उनके आईजी रहने के दौरान सपाइयों पर लाठीचार्ज भी हुआ और बड़े नेताओं से अभद्रता भी हुई थी। इसके बाद से सपा से एके जैन की दूरियां हो गईं।

इनके अलावा डीजीपी के एक और प्रबल दावेदार डॉ़ सूर्य कुमार शुक्ला का इंतजार और बढ़ जाएगा। दो माह के डीजीपी रिजवान अहमद के सेवा विस्तार की भी चर्चा हुई थी, लेकिन सरकार ने उनके एक्सटेंशन के लिए प्रस्ताव नहीं भेजा था।

रिटायर डीजीपी ए.के. गुप्ता कार्यकाल की उपलब्धियां

गुम सामान जैसे मोबाइल फोन, मार्कशीट, आधार कार्ड के लिए ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराने के लिए ऐप लॉन्च कराया,
थानों में सीसीटीवी लगाने की योजना का आगाज, पुलिसकर्मियों की समस्याओं के निपटारे के लिए हर माह के शुक्रवार को सैनिक सम्मेलन शुरू कराया, सिटीजन चार्टर फिर से लागू कराया, सोशल साइट्स के सर्विलांस की योजना, एनसीआर में हवाई पेट्रोलिंग की शुरुआत की थी।

फाइल फोटोः एके गुप्ता, रिटायर यूपी डीजीपी।