Thursday, September 2, 2021

भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की बैठक में लगे वंदे मातरम और भारत माता का जयकारे !

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक मोर्चा की बैठक में आज माहौल राष्ट्रवादी हो गया। लखनऊ के विश्वसरैया हॉल में केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की मौजूदगी में पहले वंदे मातरम के गायन से सभी का स्वागत किया गया और इसी दौरान हॉल में वक्ताओं के भाषण के बीच-बीच में भारत माता की जय के जोरदार नारे भी लगे।

मुख्य अतिथि केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि दशकों से तथाकथित सेक्युलर सिंडिकेट की तुष्टीकरण राजनीति ने अल्पसंख्यक मुसलमानों के सशक्तीकरण का अपहरण कर रखा था लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सबका साथ सबका विकास के मजबूत संकल्प के साथ काम किया। जिसका नतीजा है कि देश के अल्पसंख्यकों को बराबरी का हक मिला। उन्होंने कहा कि अब सिर्फ सत्ता के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस देश के लिए भी बहुत जरूरी है।

मुख्तार अब्बास नकवी ने राजभवन के सामने विश्वेश्वरैया सभागार में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के उद्घाटन के बाद समारोह को संबोधित किया। इससे पहले अल्पसंख्यक मोर्चा की कार्यसमिति की शुरुआत में सह मीडिया प्रभारी फैजान रिजवी और प्रदेश मंत्री डॉक्टर नाजिया आलम ने वंदे मातरम गाया। पूरा सभागार भारत माता की जय के नारों से गूंज उठा। यह बहुत ही खास तरह का माहौल था।

इस मौके पर डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि मैं आज इस समारोह में सिर्फ इतना कहने आया हूं कि मुसलमान टोपी पहनकर धर्म के साथ राष्ट्रधर्म का भी पालन करें। सम्मेलन में भाजपा के महामंत्री सुनील बंसल ने मौजूद नेताओं को खरी-खरी सुनाई। उन्होंने कहा कि कई लोग पद पा गये लेकिन उनके पास चार वोट भी नहीं हैं। पद जनसेवा के लिए मिला है। जो पद पर है वह स्थाई नही है। जिनके पास चार वोट भी नही है उच्च पद पर बैठे है। यह लोग अल्पसंख्यकों को जोडऩे के बजाए सत्ता सुख ले रहे हैं।

कार्यक्रम में आए कार्यकर्ताओं को संगठन की तरफ निर्देश दिया गया कि प्रदेश भर में केंद्र और राज्य सरकार की उपलब्धियों को अल्पसंख्यक समुदाय तक पहुंचाया जाए। इसके साथ ही बैठक में लोकसभा चुनाव को देखते हुए अल्पसंख्यक समुदाय में खासकर रूठे मुस्लिम समुदाय को पार्टी से जोडऩे पर बल दिया गया।

अयोध्या में मस्जिद निर्माण की बात

भाजपा एमएलसी बुक्कल नवाब ने अल्पसंख्यक मोर्चा की बैठक में अयोध्या में राम मंदिर के मुद्दे पर बोलना शुरू किया। इस दौरान उन्होंने विवादित स्थल पर मस्जिद बनाने की बात जैसे ही कही। इसके बाद बैठक में हंगामा शुरू हो गया। कार्यकर्ता बुक्कल नवाब का विरोध करने लगे। इसके बाद बुक्कल नवाब को मंच से हटा दिया गया। वहां पर लोगों ने बुक्कल नवाब के बयान पर कड़ी नाराजगी दर्ज कराई। बुक्कल नवाब ने अल्पसंख्यक मोर्चा की बैठक में बवाल के बाद सफाई दी कि उन्होंने ऐसी कोई विवादित बात नहीं की। दरअसल कुछ लोग उनकी बात समझ नहीं सके। उन्होंने बस इतना कहा कि अगर मस्जिद बन भी गई तो वहां नमाज नहीं हो सकती। उनकी इस बात को बेवजह मुद्दा बनाया गया।