Monday, August 30, 2021

खुशखबरी: योगी सरकार का बड़ा तोहफा, सरकारी हुए संविदा पर कार्यरत सभी कर्मचारी

LUCKNOW. यूपी में संविदा पर कार्य कर रहे कर्मचारियों को योगी सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है। UP में संविदा पर कार्यरत स्वास्थ्य सेवकों के लिए अच्छी खबर है। इलाहाबाद HIGHCOURT ने उनकी नियमित नियुक्ति का रास्ता साफ कर दिया है। कोर्ट ने राज्य सरकार को आदेश दिया है कि वो स्वास्थ्य सेवकों को नियमित करे। यानी अब स्वास्थ्य सेवकों को सरकारी नौकरी दिए जाने की सारी अड़चन खत्म हो गई है। -dainikdunia.com

 

उच्च न्यायालय ने स्वास्थ्य सेवकों की याचिका पर सुनवाई करते हुए ये फैसला सुनाया है। इस आदेश से सैकडों स्वास्थ्य सेवकों को सीधे फायदा मिलेगा और इन्हें 2016 की सीधी भर्ती में शामिल कर नियमित कर दिया जाएगा।

 

स्वास्थ्य सेवकों ने नियमित किए जाने की मांग

गौरतलब है कि यूपी सरकार NRHM के तहत शैक्षिक योग्यता के आधार पर सीधी भर्ती कर रही है। इस भर्ती को लेकर 141 स्वास्थ्य सेवकों ने HIGHCOURT में याचिका दाखिल की और कोर्ट के समक्ष दलील दी गई कि स्वास्थ्य सेवकों को कई गंभीर बीमारियों से निपटने के लिए विशेष तौर पर प्रशिक्षित किया गया है और याचिकाकर्ता विशेष प्रशिक्षित श्रेणी की योग्यता रखते हैं। ऐसे में वर्षों से कार्यरत स्वास्थ्य सेवकों को नियमित किए जाने की बजाय सरकार शैक्षिक योग्यता का आधार बनाकर उन्हें नियमितीकरण से वंचित नहीं कर सकती। स्वास्थ्य सेवकों ने खुद को नियमित किए जाने की मांग की थी।

ALSO READ. BJP सांसद पर जानलेवा हमला बाल-बाल बचे, ड्राइवर समेत दो घायल

 

 ALSO READ. हार्दिक पटेल की एक और सेक्स सीडी, बहुत तेजी से हो रही वायरल

फैसले से सेवक खुश

मामले पर सुनवाई करते हुए JUSTICE RSR मौर्या ने स्वास्थ्य सेवकों के पक्ष में फैसला सुनाया। कोर्ट ने साफ कर दिया है कि शैक्षणिक आधार पर नियुक्ति ठीक नहीं है, बल्कि नियमित नियुक्ति वरिष्ठता के आधार पर होनी चाहिए। इलाहाबाद HIGHCOURT के इस आदेश के बाद स्वास्थ्य सेवकों में जहां जश्न है, वहीं चुनावी माहौल को भुनाने के लिए सरकार की ओर से भी कोई आपत्ति नहीं की गई है। फिलहाल अब स्वास्थ्य सेवकों को बैचवार वरिष्ठता के आधार पर नियमित किया जाएगा।

-FILE PHOTO