Tuesday, August 31, 2021

2019 लोकसभा चुनाव से ठीक पहले योगी सरकार ने खेला आरक्षण का कार्ड !

Lucknow. 2019 में लोकसभा चुनाव होने है। ऐसे में चुनाव से ठीक पहले यूपी की योगी सरकार ने ने प्रदेश के सिख और मुस्लिम जाटों को लुभाने को आरक्षण का बड़ा कार्ड खेला है। अभी तक प्रदेश में सिर्फ जाटों को अन्य पिछड़ा वर्ग में आरक्षण का लाभ मिलता था लेकिन, अब उत्तर प्रदेश के मूल निवासी मुस्लिम और सिख जाटों को भी OBC का लाभ मिल सकेगा।

योगी सरकार

इसके लिए पिछड़ा वर्ग कल्याण निदेशक की ओर से जारी शासनादेश में सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को OBC के अंतर्गत जाति प्रमाण जारी करने को निर्देशित किया है।

अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री बलदेव सिंह औलख ने गुरुवार को रामपुर में भाजपा जिला महामंत्री हंसराज पप्पू के आवास पर पत्रकारों से बात करते हुए पांच दिसंबर को जारी शासनादेश की प्रतियां उपलब्ध कराते हुए इस आशय की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सिख और मुस्लिम जाटों को अब OBC का लाभ मिलने लगेगा।

उत्तर प्रदेश में लाखों सिख और मुस्लिम जाट रहते हैं, ये वर्ष 1999-2000 से जाटों की तरह ही पिछड़ी जाति के आरक्षण के लाभ के लिए संघर्षरत थे। कई बार इसकी मांग ज्ञापनों तो कई बार मंचो से की गई थी। जिसे अब आकर सरकार ने मान लिया है।।

प्रदेश में करीब 40 लाख को मिलेगा लाभ

राज्यमंत्री बलदेव सिंह औलख का कहना है कि उत्तर प्रदेश में करीब 38 से 40 लाख सिख एवं मुस्लिम जाट हैं, जिन्हें अब OBC का लाभ मिल सकेगा।

राज्यमंत्री अल्पसंख्यक कल्याण बलदेव सिंह औलख ने कहा, सिख और मुस्लिम जाटों को चुनाव से लेकर नौकरी तक में OBC केटोगरी को मिलने वाली सभी सहूलियतों का लाभ अब मिलेगा। इसके लिए लंबे समय से हम लोग प्रयास कर रहे थे, जिसे मुख्यमंत्री जी ने मंजूरी दे दी और राजाज्ञा आप सबके सामने है।